YouTube

Hypertension: बीपी को बढ़ने से रोकने के लिए रोजाना करें ये 5 ब्रीदिंग एक्‍सरसाइज, तनाव से रहेंगे मुक्‍त

breath exercise for high blood pressure

“Hypertension” जिसे आम भाषा में हाई ब्लड प्रेशर भी कहा जाता है. आज के समय में हाई ब्लड प्रेशर एक आम समस्या बन गई है. पहले के समय में ये बीमारी सिर्फ अधेढ़ उम्र के लोगो को ही होती थी, लेकिन आज के समय में ये बीमारी नवयुवक को भी अपना शिकार बना रही हैं. इस बिमारी का कोई खास लक्षण नहीं है. हाई ब्लड प्रेशर कई कारणों से होती है, जैसे की गलत खान – पान, खराब जीवनशैली और अत्यधिक तनाव आदि.  हाई ब्लड प्रेशर सीधे हार्ट अटैक और स्ट्रोक जैसी खतरनाक बिमारियों को बढाता है. इसीलिए इसे साइलेंट किलर भी कहा जाता जाता है. आज कल ये बीमारी काफी तेजी से बढ़ती जा रही है. इस बीमारी को कंट्रोल में रखने के लिए कई दवाइयां भी मौजूद है. लेकिन उन दवाइयों के साइड इफ़ेक्ट भी बहुत ज्यादा होते है.

breath exercise for high blood pressure

एक शोध में पाया गया है, की दवाइयों के मुकाबले योग (ब्रीदिंग एक्‍सरसाइज) उच्च रक्तचाप को कम करने के लिए बहुत असरदार और प्रभावशाली होता है. ब्रीदिंग एक्‍सरसाइज एक सरल सांस लेने की तकनीक है. ये तकनीक उच्च रक्तचाप के स्तर को निचे लाता है. हाइपरटेंशन के समय यह तकनीक आपको शांत करने में बहुत मदद करता है. इसके लिए आप रोज सुबह उठते ही ब्रीदिंग एक्‍सरसाइज जरुर करें. इससे आपका दिमाग और मन दोनों ही शांत रहेगा और आपको हाई ब्लड प्रेशर की बीमारी कभी नही होगी. इसीलिए आज हम हाई ब्लड प्रेशर को प्राकृतिक से ठीक करने के कुछ ब्रीदिंग एक्‍सरसाइज के बारे में जानेगे.

इसे भी पढ़ें: हाई ब्लड प्रेशर को कंट्रोल में रखेंगे ये 7 घरेलू नुस्खे

हाई ब्लड प्रेशर के लिए ब्रीदिंग एक्‍सरसाइज


breath exercise for high blood pressure

डीप ब्रीदिंग एक्सरसाइज: डीप ब्रीदिंग एक्सरसाइज से हमें तनाव से मुक्ति मिलती है, और हमारा दिमाग शांत रहता हैं. जब हम गहरी सांस लेतें है, तब हमारे शरीर में ऑक्सीजन का प्रवाह बढ़ जाता है, और शरीर से टॉक्सिन निकलने लगते है. इस वजह से हम बहुत रिलैक्स महसूस करते है. डीप ब्रीदिंग से जो ऑक्सीजन हमे प्राप्त होती है, वह सामान्य ब्रीदिंग के मुकाबले ज्यादा होती है. डीप ब्रीदिंग एक्सरसाइज के जरीए हमारे इंटरनल ऑर्गन की भी एक्सरसाइज होती है. ये एक्सरसाइज हमारे ब्लड प्रेशर को नियंत्रित तो करता ही है, साथ ही हमारे पेट, लीवर और पाचनक्रिया को भी मजबूत बनाता है.

breath exercise for high blood pressure

शितकारी प्राणायाम: शितकारी का अर्थ है ठंडक. इसका मतलब है, की ऐसा योग जो हमारे शरीर और मन दोनों को ठंडक पहुंचाता हैं. शितकारी प्राणायाम हमारे मस्तिष्क के उन केन्द्रों को प्रभावित करता है, जो हमारे शरीर के तापमान को केन्द्रित करते है. इस तरह से ये एक्सरसाइज हमारे दिमाग को शांत करता है, और मांशपेशियों को आराम पहुंचाता है. इस प्राणायाम को करने से हमारे शरीर में ऑक्सीजन की कमी कभी नही होती है. शितकारी प्राणायाम को करने से रक्त संचार की प्रक्रिया में बहुत सुधार होता है. आपको बता दें की अगर हमारा रक्त संचार बराबर होगा तो. हमे दिल की बीमारी कभी नही होगी. अच्छी नींद, थकान को दूर करने, शक्ति और ताकत के लिए इस प्राणायाम को जरुर करें.

breath exercise for high blood pressure

अनुलोम विलोम प्राणायाम: सांस लेने की यह तकनीक तंत्रिका तंत्र को साफ़ रखने में मदद करती है. इस प्राणायाम को करने से तनाव और चिंता कम होता है. पुरे शरीर में शुद्ध ऑक्सीजन की पूर्ति होती है. फेफड़े शक्तिशाली होते है. सर्दी, जुकाम और दमा की शिकायतें कम हो जाती है. ये प्राणायाम हाई ब्लड प्रेशर को भी नियंत्रित रखता है. अनुलोम विलोम प्राणायाम को रोज सुबह ५ से १५ मिनट तक जरुर करें. कमजोर और एनीमिया से पीड़ित रोगी इस प्राणायाम को कम करें.

breath exercise for high blood pressure

कपालभाती प्राणायाम: संस्कृत में कपालभाती का अर्थ है, कपाल यानि “माथा” और भाती का अर्थ है ”तेज”. इस तकनीक को करने से मस्तिष्क सुचारू रूप से काम करता है. साथ ही इस प्राणायाम को करने के और भी अन्य लाभ है. इससे हमारा ह्रदय और किडनी स्वस्थ रहता है और रक्तचाप भी नियंत्रित रहता है. इस प्राणायाम को रोजाना कम से कम ५ से १० मिनट तक जरुर करें.

breath exercise for high blood pressure

साम वृत्ति: साम वृति प्राणायाम एक बहुत ही अच्छा और सरल तकनीक है साँस लेने का. इस प्राणायाम को आप कभी भी, किसी भी समय, और कही भी कर सकते है. ये प्राणायाम आपके रक्तचाप के स्तर को निचे लाता है, मन को शांत करता है और आपको आराम करने में मदद करता है. इस तकनीक को रोज सुबह करें और साथ में रात को सोने से पहले भी जरुर करें. उस समय ये एक्सरसाइज आपके लिए बहुत अधिक फायदेमंद होगा.

ये कुछ ब्रीदिंग एक्‍सरसाइज है, जिसे करने से हाई ब्लड प्रेशर कंट्रोल में रहता है. आपको बता दें की बहुत अधिक तनाव के क्षणों में हमारे रक्तचाप का लेवल बढ़ जाता है. ऐसे में अगर हम ब्रीदिंग एक्‍सरसाइज करेंगें तो शरीर और मन दोनों को आराम मिलेगा और ब्लड प्रेशर भी नार्मल हो जाएगा. वैसे भी हाई ब्लड प्रेशर की समस्या हो या न हो, हर व्यक्ति को ये ब्रीदिंग एक्‍सरसाइज जरुर करना चाहिए. क्यों की इससे बहुत लाभ मिलता है.

Post a Comment

0 Comments